Patient Speak

Sanjay Singh, a patient who is a resident of Greater Noida, got the pain of stone in Kidney. Patient Sanjay Singh advised by his friend to get treatment at Medigram Hospital Saharanpur as it was urgent. Dr. Sharad Kumar Agarwal, who is urologist in the Medigram hospital, has successfully carried out the operation of Kidney Stone on Sanjay Singh and now he is absolutely fine and is very happy with the Facilities and Services of the Medigram Hospital. He Could not only got treatment for pain but also got rid of stone, without any extra efforts, in a distant place from his home town.

12 सितम्बर 2018 को रात लगभग 11:30 बजे एक मरीज को मेडीग्राम हॉस्पिटल की इमरजेंसी में लाया गया | मरीज लगभग बेहोशी की हालत में थी तथा मरीज के परिजनों ने बताया कि पिछले 2 दिनों से मरीज बार बार चक्कर खा कर बिहोश हो रही थी तथा मरीज को साँस लेने में भी परेशानी हो रही थी | परिजनों ने बताया की मरीज डायबिटिक तथा ब्लड प्रेशर से भी पिछले काफी समय से पीड़ित थी | जाँच करने पर पता चला कि मरीज ऐजोटीमिया (रक्त में नाइट्रोजन की अधिकता ), हाइपरकैलेमिया (रक्त में कैल्शियम की अधिकता) तथा मेटाबोलिक एसिडॊसिस ( रक्त में अम्ल की अधिकता ) के साथ साथ हाई शुगर लेवल तथा हार्ट ब्लॉक की स्थिति में थी | मरीज की स्थिति बहुत गंभीर थी | इमरजेंसी के रेजिडेंट मेडिकल ऑफिसर ने स्थिति की गम्भीरता को समझते हुऎ तुरन्त सीनियर कार्डियो-डाइबिटोलोजी कंसलटेंट डॉ० अजय कुमार सिंह, सीनियर कार्डियोलॉजिस्ट डॉ० रणधीर पाल नेफ्रोलोजिस्ट डॉ० सत्यानन्द साथी तथा पल्मोनोलोजिस्ट डॉ० अनुपम मालिक से संपर्क किया तथा रात के समय ही मरीज का डायलिसिस किया गया तथा मरीज को हॉस्पिटल के विश्वस्तरिय ICU में वेंटीलेटर पर रख कर इलाज किया गया | मरीज की स्थिति में सुधार होने पर मरीज की एंजियोग्राफी भी की गई जो कि सामान्य पाई गयी | डॉ० अजय कुमार सिंह, डॉ० रणधीर पाल, डॉ० सत्यानन्द साथी तथा डॉ० अनुपम मलिक के अथक प्रयास तथा मेडीग्राम हॉस्पिटल के प्रशिक्षित नर्सिंग स्टाफ तथा अत्याधुनिक सुविधाओं के सहयोग से मरीज की स्थिति में सुधार होने लगा तथा अब मरीज स्वस्थ हैं तथा 23 सितम्बर 2018 को मरीज मरीज़ की अस्पताल से छुट्टी कर दी गई | आइये सुनते हैं मरीज़ तथा उनके परिजनों से उनके अनुभव :